विप्र फाउंडेशन ने ली बच्चे की कक्षा 9 से कक्षा 12वीं तक की शिक्षा की जिम्मेदारी।